घाटी में Corona को लेकर नई गाइडलाइन लागू, ट्रांसपोर्टर हड़ताल पर

आदेश का विरोध करते हुए ट्रांसपोर्टरों ने किरायों में वृद्धि पर जोर देते हुए हड़ताल शुरू कर दी।

Jammu में निजी ट्रांसपोर्टरों ने Coronavirus संबंधी नए सरकारी आदेश के खिलाफ बुधवार को अनिश्चितकालीन हड़ताल शुरू कर दी। नए Covid-19 दिशानिर्देशों के तहत सार्वजनिक परिवहन वाहनों में बैठने की क्षमता 50 प्रतिशत कर दी गयी है।
हाल के दिनों में कोरोना वायरस से संक्रमण के मामलों में तेज वृद्धि पर काबू के लिए नए दिशानिर्देश जारी किए गए हैं। इनमें बाजारों और मॉल के खोलने पर भी रोक लगायी गयी है। नए आदेश बुधवार सुबह से प्रभावी हो गए।

आदेश का विरोध करते हुए ट्रांसपोर्टरों ने किरायों में वृद्धि पर जोर देते हुए हड़ताल शुरू कर दी।

जम्मू कश्मीर ट्रांसपोर्टर वेलफेयर फोरम (TWUF) के आह्वान पर अधिकतर निजी बसों, मिनी-बसों और कैब ऑपरेटरों ने परिचालन रोक दिया वहीं तिपहिया वाहन सामान्य दिनों की तरह चल रहे थे जिससे यात्रियों को कुछ हद तक राहत मिली।

TWUF के अध्यक्ष टीएस वजीर ने कहा कि सरकार ने उनसे सलाह लिए बिना निर्णय लिया है। उन्होंने कहा कि 50 प्रतिशत यात्रियों के साथ अपने वाहन चला पाना ट्रांसपोर्टरों के लिए संभव नहीं है। उन्होंने कहा कि ईंधन की कीमतें आसमान छू रही हैं और महामारी शुरू होने के बाद से ट्रांसपोर्टर सबसे ज्यादा प्रभावित हुए हैं।

इस बीच सरकार ने यात्रियों की सुविधा के लिए विभिन्न मार्गों पर राज्य परिवहन निगम (SRTC) की बसों को चलाया। वहीं 50 प्रतिशत दुकानें बंद रखने के सरकारी आदेश को लागू करने के लिए पुलिसकर्मी शहर के मुख्य बाजारों में गश्त करते देखे गए।

You Might Also Like